Total Pageviews

21 June 2017

22 जून 2017 का मौसम पूर्वानुमान



मध्य और पूर्वी भारत के कुछ भागों में मॉनसून की प्रगति हुई है। इस समय मॉनसून की उत्तरी सीमा यानि एनएलएम वलसाड़, नाशिक, बुलढ़ाणा, यवतमाल, रायपुर, डाल्टनगंज और सुपौल में पहुँच गई है।
उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे जम्मू कश्मीर पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। मैदानी भागों में बना चक्रवाती सिस्टम इस समय उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों पर दिखाई दे रहा है।
राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी हिस्सों पर भी एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है। इसके अलावा उत्तर-पश्चिमी राजस्थान से बंगाल की खाड़ी तक बनी ट्रफ भी सक्रिय है। यह ट्रफ हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के ऊपर से बंगाल की खाड़ी तक पहुँच रही है।
बांग्लादेश के उत्तरी हिस्सों पर भी हवाओं में एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल से बंगाल की खाड़ी तक भी एक ट्रफ रेखा विकसित हो गई है।
पश्चिमी तटों पर बनी ट्रफ इस समय कमजोर है और यह केरल से गोवा तक सक्रिय है।
देश के विभिन्न भागों में दर्ज की गई मौसमी गतिविधियां
पिछले 24 घंटों के दौरान ओड़ीशा में कई जगहों पर मध्यम से भारी बारिश दर्ज की गई है। केरल और तटीय कर्नाटक में कुछ स्थानों पर अच्छी वर्षा हुई।
इस दौरान पूर्वोत्तर भारत के राज्यों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, झारखंड, पूर्वी मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली और उत्तर भारत के हिमालयी राज्यों में कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की गई है।
पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों, उत्तर प्रदेश, बिहार, तेलंगाना और विदर्भ में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। उत्तर प्रदेश में कहीं-कहीं भारी बारिश भी रिकॉर्ड की गई है।
तमिलनाडु, तटीय आंध्र प्रदेश और गुजरात में कुछ जगहों पर हल्की बारिश हुई।- www.skymetweather.com

No comments: