Total Pageviews

26 May 2017

निर्यात मांग कम होने से बासमती चावल में और गिरावट संभव

आर एस राणा
नई दिल्ली। निर्यातकों की मांग कम होने के कारण बासमती चावल और धान की कीमतों में और गिरावट आने का अनुमान है। बुधवार को पूसा 1,121 बासमती चावल का भाव 6,250 रुपये और स्टीम का भाव 7,100 रुपये और रॉ-बासमती चावल का भाव 7,000 रुपये तथा ट्रेडिशनल बासमती चावल का भाव 6,800 से 7,300 रुपये प्रति क्विंटल रह गए।
भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने चालू खरीफ में मानसून सामान्य रहने की भविष्यवाणी की है तथा चालू सीजन में बासमती धान के भाव काफी उंचे रहे हैं, इसलिए चालू खरीफ में पूसा 1,121 बासमती धान के साथ ही 1,509 की बुवाई भी 15 से 20 फीसदी ज्यादा होने का अनुमान है। ऐसे में आगामी दिनों में बासमती चावल के साथ ही बासमती धान की कीमतों में और गिरावट आने का अनुमान है।
चालू खरीफ में पंजाब के हरियाणा में बासमती धान रौपाई ज्यादा होने का अनुमान है। पंजाब में धान की रैपाई सामान्यतः 7.5 लाख हैक्टेयर में होती है जबकि पिछले साल बासमती धान की रौपाई 4.94 लाख हैक्टेयर में ही हुई थी। इसी तरह से हरियाणा में धान की रौपाई सामान्यतः 7.2 लाख हैक्टेयर में होती है जबकि पिछले साल राज्य में बासमती धान की रौपाई 5.75 लाख हैक्टेयर में हुई थी।
कृषि मंत्रालय के चालू खरीफ में अभी तक धान की रौपाई 1.52 लाख हैक्टेयर ही हुई है जबकि पिछले साल की समान अवधि में इसकी रौपाई 1.54 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी। धान की रौपाई अभी शुरुआती चरण है, तथा आगामी दिनों में इसकी रौपाई में तेजी आने का अनुमान है।
विश्व बाजार में पूसा 1,121 बासमती स्टीम के भाव 1,229-1,230 डॉलर प्रति (एफओबी) है जबकि पाकिस्तानी बासमती चावल के भाव 1,203-1,205 डॉलर प्रति टन (एफओबी) हैं।........आर एस राणा

No comments: