Total Pageviews

15 May 2018

उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों पर किसानों का बकाया 13,500 करोड़ के पार


आर एस राणा
नई दिल्ली। चालू गन्ना पेराई सीजन में उत्तर प्रदेश में चीनी का बंपर उत्पादन किसानों के लिए घाटे का सौदा साबित हो रहा है। राज्य में अभी तक चीनी का बंपर 116.30 लाख टन का उत्पादन हो चुका है जबकि चीनी मिलों पर ​गन्ना किसानों का बकाया भी बढ़कर 13,509 करोड़ रुपये के पार चला गया है। समय पर भुगतान नहीं मिलने से राज्य के किसानों को आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 
यूपी शुगर मिल्स एसोसिएशन (यूपीएसएमए) के अनुसार चालू पेराई सीजन में पहली अक्टूबर 2017 से 11 मई 2018 तक राज्य की चीनी मिलों ने किसानों से 34,118.83 करोड़ रुपये का गन्ना खरीदा है जबकि किसानों को भुगतान इस दौरान केवल 20,609.13 करोड़ रुपये का ही किया है। राज्य में चीनी का उत्पादन बढ़कर चालू पेराई सीजन में 116.30 लाख टन का हो चुका है जबकि पिछले साल की समान अवधि में 87.34 लाख टन चीनी का ही उत्पादन हुआ था।
राज्य में अभी भी 56 चीनी मिलों में पेराई चल रही है ऐसे में माना जा रहा है कि चीनी का उत्पादन बढ़कर 120 लाख टन के करीब होने का अनुमान है। गन्ना क्षेत्रफल में बढ़ोतरी के साथ ही चालू पेराई सीजन में गन्ने में रिकवरी की दर भी ज्यादा आई है। पिछले पेराई सीजन में उत्तर प्रदेश में जहां गन्ने में रिकवरी की औसत दर 10.61 फीसदी की आई थी, वहीं चालू पेराई सीजन में रिकवरी की दर 10.88 फीसदी की आई है। ......  आर एस राणा

No comments: