Total Pageviews

08 July 2017

चालू खरीफ में बाजरा की बुवाई ज्यादा, ज्वार की कम

आर एस राणा
नई दिल्ली। चालू खरीफ में जहां बाजरा की बुवाई में भारी बढ़ोतरी हुई है, वहीं ज्वार की बुवाई पिछड़ रही है। कृषि मंत्रालय के अनुसार बाजरा की बुवाई बढ़कर 30.35 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल की समान अवधि में 18.88 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई थी। ज्वार की बुवाई चालू खरीफ में अभी तक केवल 6.21 लाख हैक्टेयर में ही पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक ज्वार की बुवाई 7.19 लाख हैक्टेयर में हो चुकी थी।
बाजरा की बुवाई चालू खरीफ में प्रमुख उत्पादक राज्य राजस्थान में बढ़कर 23.97 लाख हैक्टयेर में हो चुकी है जबकि पिछले साल की समान अवधि में बाजरा की बुवाई केवल 13.41 लाख हैक्टेयर में ही हो पाई थी। महाराष्ट्र में बाजरा की बुवाई बढ़कर 2.37 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक 0.95 लाख हैक्टेयर में ही हुई थी। हरियाणा में बाजरा की बुवाई बढ़कर 2.06 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक 1.71 लाख हैक्टेयर में बुवाई हुई थी। कर्नाटका में बाजरा की बुवाई 1.81 लाख हैक्टेयर में हो चुकी है।
बाजरा की कीमतों में महीने भर में भारी गिरावट आई है, दिल्ली में बाजरा के भाव 1,140 से 1,150 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि राजस्थान और हरियाणा की मंडियों बाजरा के भाव 1,070 से 1,100 रुपये प्रति क्विंटल चल रहे हैं। उत्पादक राज्यों की मंडियों में ज्वार के भाव 1,800 से 2,300 रुपये प्रति क्विंटल चल रहे हैं। व्यापारियों के अनुसार आगामी दिनों में बाजरा में हल्की मांग बढ़ेगी, जिससे हल्का सुधार तो आने का अनुमान है। चालू खरीफ में जहां बुवाई ज्यादा होने का अनुमान है, साथ ही मानसूनी बारिश भी अच्छी हो रही है इसलिए बाजरा की कीमतों में नई फसल तक बड़ी तेजी की संभावना नहीं है।................  आर एस राणा

No comments: