Total Pageviews

25 June 2017

आधे भारत पर छाया मानसून

अपनी गति से आगे बढ़ते हुए दक्षिण पश्चिम मानसून ने करीब-करीब आधे भारत को कवर कर लिया है। यानी इस वक्त देश के आधे से ज्यादा हिस्से में बारिश हो रही है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून के लिए उत्तरी अरब सागर, सौराष्ट्र के कुछ हिस्सों, गुजरात के और भागों, मध्य महाराष्ट्र, मराठावाड़ा़ और विदर्भ के बाकी बचे हिस्सों, पश्चिमी और पूर्वी मध्य प्रदेश के और ज्यादा भागों में आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बन रही हैं।
दक्षिण पश्चिम मानसून की उत्तरी सीमा यानी एनएलएम द्वारका, वल्लभ विद्यानगर, खांडवा, बैतुल, माडला और पटना के आसपास बनी हुई है। ये बारिश होने के लिए बहुत अच्छा संकेत है। इन इलाकों में कई हिस्सों में बारिश हो रही है और कहीं-कहीं बारिश के आसार बन रहे हैं।
अगले 72 घंटों में पूर्वी उत्तर प्रदेश, गुजरात और बिहार के बाकी बचे हिस्सोंं में मानसून पहुंचने की उम्मीद है। पिछले 24 घंटों में गुजरात और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के कुछेक हिस्सों में बहुत तेज बारिश हुई है।

आज अगले 24 घंटों के मौसम का हाल

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार ओडिशा, गुजरात, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक और केरल में इक्का-दुक्का जगहों पर बहुत तेज बारिश के आसार हैं। बता दें कि केरल और कोंकण एवं गोवा में मानसून ने एक बार फिर से रफ्तार पकड़ ली है।
छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, तटीय आंध्र प्रदेश और निकोबार एवं द्वीप समूह में भी कहीं-कहीं तेज बारिश आ सकती है। तो वहीं, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और तटीय आंध्र प्रदेश और लक्षद्वीप में भीं इक्का-दुक्का जगहों पर तेज बारिश हो सकती है।
भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में कहीं-कहीं तेज हवाओँ के साथ बारिश हो सकती है।
पश्चिमी मध्य प्रदेश के कुछेक इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश के आसार दिखाई पड़ रहे हैं।

No comments: