Total Pageviews

15 June 2017

गेहूं पर आयात शुल्क बढ़ाकर 25 फीसदी कर सकती है सरकार

आर एस राणा
नई दिल्ली। केंद्र सरकार गेहूं के आयात पर शुल्क को 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर सकती है। इस समय गेहूं पर 10 फीसदी आयात शुल्क है, इसके बावजूद भी आयातित गेहूं दक्षिण भारत की फ्लोर मिलों को सस्ता पड़ रहा है। गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश की अधिकाशं मंडियो में गेहूं 1,500 से 1,550 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बिक रहा है जबकि केंद्र सरकार ने चालू रबी विपणन सीजन के लिए गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 1,625 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है।
चालू रबी में देश में गेहूं का रिकार्ड उत्पादन 974.4 लाख टन होने का अनुमान है, साथ ही पिछले महीनों में करीब 55 लाख टन गेहूं का आयात हो चुका है। चालू महीने में भी करीब 2 से 2.5 लाख टन गेहूं के आयात सौदे हुए हैं, तथा आस्ट्रेलिया से आयातित गेहूं का भाव दक्षिण भारत की बंदरगाहों पर 1,780 रुपये प्रति क्विंटल है, इसमें 100 रुपये का खर्च मिला दिया जाए तो मिल पहुंच 1,880 रुपये प्रति क्विंटल पड़ेगा। आस्ट्रेलिया से अगस्त-सितंबर के आयात सौदे जहां 230 डॉलर प्रति टन की दर से हो रहे हैं, वहीं लाल गेहूं के आयात सौदे 200 डॉलर प्रति टन की दर से बोले जा रहे हैं।
केंद्र सरकार एमएसपी पर अभी तक 303.62 लाख टन गेहूं की रिकार्ड खरीद कर चुकी है जबकि पिछले साल की समान अवधि में सरकार ने 229.61 लाख टन गेहूं की खरीद ही की थी।................आर एस राणा

No comments: