Total Pageviews

06 June 2017

07 जून 2017 का मौसमी पूर्वानुमान



मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) कोच्चि, टोंडी, अगरतला, विलियमनगर और कोकराझार के पास बनी हुई है।
दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा, तमिलनाडु के कुछ और हिस्सों, पूर्वी भारत के कुछ और भागों तथा उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियाँ अनुकूल हैं।
उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे उत्तर भारत के भागों के पास एक नया पश्चिमी विक्षोभ पहुँच गया है।
इसके प्रभाव से विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मध्य पाकिस्तान और इससे सटे पंजाब पर दिखाई दे रहा है।
इस सिस्टम से एक ट्रफ रेखा उत्तर प्रदेश, बिहार और उत्तरी झारखंड होते हुए गंगीय पश्चिम बंगाल तक पहुँच रही है। पूर्वी असम और मेघालय पर हवाओं में चक्रवाती सिस्टम दिखाई दे रहा है।
पूर्वी उत्तर प्रदेश पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक अन्य चक्रवाती सिस्टम उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश पर भी बना हुआ है।
उत्तरी छत्तीसगढ़ से ओड़ीशा तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई है।
देश के विभिन्न भागों में दर्ज की गई मौसमी गतिविधियां
बीते 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, असम, पश्चिम बंगाल, ओड़ीशा और छत्तीसगढ़ में कुछ स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम वर्षा दर्ज की गई है।
मध्य प्रदेश, तटीय आंध्र प्रदेश, केरल, तटीय कर्नाटक, लक्षद्वीप, आंतरिक तमिलनाडु, मध्य महाराष्ट्र, रायलसीमा, तेलंगाना और कोंकण गोवा में कई जगहों पर हल्की से मध्यम जबकि एक-दो स्थानों पर भारी बारिश की गतिविधियां देखने को मिली हैं।
अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में भीषण वर्षा जारी है। यहाँ पोर्ट ब्लेयर में सोमवार की सुबह 8:30 बजे से बीते 24 घंटों के दौरान 215 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।
दिल्ली और इसके आसपास के शहरों, पंजाब, हरियाणा, उत्तर और पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश के कुछ भागों और छत्तीसगढ़ तथा झारखंड में एक-दो स्थानों पर लू का प्रकोप जारी रहा।
आगामी 24 घंटों का मौसमी पूर्वानुमान
अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश की तीव्रता में बढ़ोत्तरी होने की संभावना है।
उत्तर प्रदेश के पूर्वी और मध्य भागों, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओड़ीशा, छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है।
तटीय आंध्र प्रदेश, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह, केरल और तटीय कर्नाटक में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम जबकि एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने के आसार हैं।
कोंकण गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, विदर्भ, तेलंगाना, आंतरिक तमिलनाडु और लक्षद्वीप क्षेत्र में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है।
पूर्वोत्तर राज्यों में मॉनसून का प्रदर्शन सुस्त रहेगा और कुछ स्थानों पर ही हल्की बारिश देखने को मिलेगी।
उत्तरी मध्य प्रदेश और राजस्थान को छोड़कर देश के अधिकांश हिस्सों से लू का प्रभाव समाप्त हो सकता है।   ----------www.skymetweather.com

No comments: