Total Pageviews

19 May 2017

अरहर और मूंग के एमएसपी में क्रमश 400-350 रुपये बढ़ोतरी संभव

आर एस राणा
नई दिल्ली। भले ही अरहर और मूंग न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से नीचे बिक रही हो, लेकिन आगामी खरीफ सीजन 2017-18 के लिए अरहर और उड़द के एमएसपी में जहां 400 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की जा सकती है, वहीं मूंग के एमएसपी में भी 350 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी होने का अनुमान है।
केंद्र सरकार चाहती है कि आगामी खरीफ सीजन में दलहन की खेती की तरफ किसानों का रुझान बढ़े, इसीलिए एमएसपी में बढ़ोतरी संभव है। सूत्रों के अनुसार कृषि लागत मूल्य आयोग (सीएसपी) ने अरहर के एमएसपी में 400 रुपये की बढ़ोतरी कर भाव 5,450 रुपये प्रति क्विंटल (बोनस सहित) तय करने की सिफारिश की है। फसल सीजन 2016-17 के लिए अरहर का एमएसपी 5,050 रुपये प्रति क्विंटल तय किया था, जबकि उत्पादक मंडियों में इस समय अरहर का भाव 3,800 से 4,000 रुपये प्रति क्विंटल है। ऐसे में जानकारों का मानना है कि चालू सीजन में अरहर की बुवाई में 15 से 20 फीसदी कमी आने की आशंका है।
इसी तरह से आगामी खरीफ विपणन सीजन 2017-18 के लिए उड़द के एमएसपी में भी 400 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी कर भाव  5,400 रुपये प्रति क्विंटल (बोनस सहित) तय करने की सिफारिश की है। मूंग का एमएसपी भी खरीफ विपणन सीजन 2017-18 के लिए 350 रुपये बढ़ाकर 5,575 रुपये प्रति क्विंटल (बोनस सहित) तय करने की सिफारिश की है जबकि फसल सीजन 2016-17 के लिए मूंग का एमएसपी 5,225 रुपये प्रति क्विंटल था।
कृषि मंत्रालय के तीसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार फसल सीजन 2016-17 के लिए देश में रिकार्ड 91.2 लाख टन दलहन का उत्पादन हुआ था। खरीफ दलहन की प्रमुख फसल अरहर का उत्पादन 46 लाख टन, उड़द का उत्पादन 21.6 लाख टन और मूंग का उत्पादन 15.3 लाख टन होने का अनुमान है। व्यापारियों के अनुसार एमएसपी में बढ़ोतरी से घरेलू बाजार में दलहन की कीमतों में हल्का सुधार तो आ सकता है लेकिन उपलब्धता ज्यादा होने के साथ मांग कम होने के कारण बड़ी तेजी की संभावना नहीं है।..............   आर एस राणा

No comments: