Total Pageviews

31 December 2014

happy new year

दोस्तों नया साल आपके लिए ढेर सारी खुशियाँ लाये

आपका   आर एस राणा

30 December 2014

दाल इंपोर्ट ड्यूटी पर सरकार का विचार

सरकार दालों पर 10 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी लगाने पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक घरेलू किसानों के हितों के सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार इन मुद्दों पर विचार कर रही है। इसके अलावा सरकार दालों और खाने के तेलों के निर्यात पर लगी रोक को भी हटा सकती है। इंफ्लेशन के मोर्चे पर हालात सुधरने से सरकार खाने की चीजों के आयात पर ढील को कम कर रही है जबकि निर्यात पर लगे नियंत्रण को हटा रही है।

कमोडिटी बाजारः सोने-चांदी में गिरावट

साल 2014 का आज अंतिम कारोबारी दिन है और ये साल कमोडिटी मार्केट के लिए भारी उतार-चढ़ाव वाले साल के तौर पर जाना जाएगा। सोना इस साल भी लगातार तीसरे साल दबाव में रहा। हालांकि 2013 के मुकाबले इस साल सोने में गिरावट काफी कम रही। साथ ही गोल्डमैन सैक्स का 1050 डॉलर का टार्गेट भी हासिल नहीं हो सका। लेकिन अगले साल अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की पूरी संभावना है। ऐसे में देखना होगा 2015 सोने के लिए कैसा रहता है। वहीं कच्चे तेल के लिए ये साल बेहद खराब रहा। साल 2008 के बाद इस साल सबसे बड़ी सालाना गिरावट आई और ये 45 फीसदी तक टूट चुका है। अगले साल का आउटलुक भी बियरिश है, लेकिन कितना गिरेगा इसे लेकर कई अटकलें हैं। एक ओर यूएस की इकोनॉमी में रिकवरी से सोने पर दबाव है, तो चीन की खराब इकोनॉमी बेस मेटल्स में गिरावट की वजह बनी हुई है।

कच्चे तेल में गिरावट गहरा गई है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डब्ल्यूटीआई और ब्रेंट का दाम 1 फीसदी तक टूट गया है। गौरतलब है कि इस साल क्रूड 45 फीसदी टूटा है। घरेलू बाजार में भी दबाव बना हुआ है और एमसीएक्स पर क्रूड में गिरावट पर कारोबार हो रहा है। फिलहाल एमसीएक्स पर कच्चा तेल जनवरी वायदा 0.15 फीसदी की गिरावट के साथ 3418 रुपये पर है।

कल की भारी तेजी के बाद सोना भी दबाव में है। एमसीएक्स पर सोना फिर से 27,000 रुपये के नीचे का स्तर छू चुका है। दरअसल अमेरिका के खराब आंकड़ों से कल सोने में तेजी आई थी। हालांकि गौर करने वाली बात ये है कि गोल्डमैन सैक्स के 1050 डॉलर के टार्गेट से सोना अभी काफी ऊपर है। कॉमैक्स पर सोना 1200 डॉलर के ऊपर कारोबार कर रहा है। इस साल सोने में करीब 6 फीसदी और चांदी में 15 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। अगले साल अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की उम्मीद है। फिलहाल एमसीएक्स पर सोना फरवरी वायदा 0.27 फीसदी की गिरावट के साथ 26975 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं घरेलू बाजार में चांदी का दाम 0.5 फीसदी गिर गया है और ये 37166 रुपये पर बनी हुई है।

बेस मेटल्स में सुस्ती है। कॉपर हल्की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है। हालांकि एल्यूमीनियम में करीब 0.5 फीसदी की तेजी आई है। एमसीएक्स पर निकेल में 0.18 फीसदी और लेड में 0.58 फीसदी की गिरावट देखी जा रही है। इस पूरे साल के दौरान बेस मेटल्स पर पूरी तरह से चीन की इकोनॉमी का असर हावी रहा। कॉपर जहां साल के दौरान करीब 15 फीसदी गिर गया है वहीं निकेल में 10 फीसदी की तेजी देखने को मिली है।

एग्री कमोडिटी में खाने के तेलों में आज गिरावट आई है। वायदा में सोया तेल और क्रूड पाम तेल पर दबाव बना हुआ है। सोयाबीन और सरसों में भी आज गिरावट आई है। चना और जीरा भी आज दबाव में कारोबार कर रहे हैं। हालांकि इस साल के दौरान सरसों में जहां 20 फीसदी की तेजी आ चुकी है। वहीं चना, जीरा और हल्दी भी 20 से 25 फीसदी तक उछल गए हैं।

आनंदराठी कमोडिटीज की निवेश सलाह

सोनाः एमसीएक्स (फरवरी वायदा) बेचें 27100 रुपये लक्ष्य 26900 रुपये स्टॉपलॉस 27200 रुपये

चांदी एमसीएक्स (मार्च वायदा) बेचें 37500 रुपये लक्ष्य 36800 रुपये स्टॉपलॉस 37750 रुपये

कच्चा तेलः एमसीएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 3400 रुपये लक्ष्य 3470 रुपये स्टॉपलॉस 3360 रुपये

नैचुरल गैसः एमसीएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 194 रुपये लक्ष्य 202 रुपये स्टॉपलॉस 190 रुपये

कॉपरः एमसीएक्स (फरवरी वायदा) खरीदें 402 रुपये लक्ष्य 405 रुपये स्टॉपलॉस 399 रुपये

जिंकः एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) खरीदें 137 रुपये लक्ष्य 139.30 रुपये स्टॉपलॉस 137.40 रुपये

लेडः एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) खरीदें 117.50 रुपये लक्ष्य 118.50 रुपये स्टॉपलॉस 117 रुपये

निकेलः एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) खरीदें 945 रुपये लक्ष्य 965 रुपये स्टॉपलॉस 937 रुपये

एल्यूमीनियम एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) बेचें 117.50 रुपये लक्ष्य 116 रुपये स्टॉपलॉस 118 रुपये

सोयाबीनः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 3350 रुपये लक्ष्य 3425 रुपये स्टॉपलॉस 3320 रुपये

सोयातेलः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 640 रुपये लक्ष्य 650 रुपये स्टॉपलॉस 635 रुपये

सरसों एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) बेचें 4300 रुपये लक्ष्य 4225 रुपये स्टॉपलॉस 4360 रुपये

चनाः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 3600 रुपये लक्ष्य 3750 रुपये स्टॉपलॉस 3550 रुपये

ग्वारसीडः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) बेचें 4800 रुपये लक्ष्य 4685 रुपये स्टॉपलॉस 4900 रुपये

ग्वारगमः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) बेचें 12900 रुपये लक्ष्य 12600 रुपये स्टॉपलॉस 13100 रुपये

हल्दीः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) बेचें 8700 रुपये लक्ष्य 8560 रुपये स्टॉपलॉस 8820 रुपये

जीराः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) खरीदें 15500 रुपये लक्ष्य 15800 रुपये स्टॉपलॉस 15300 रुपये

कैस्टरसीडः एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा) बेचें 4785 रुपये लक्ष्य 4800 रुपये स्टॉपलॉस 4715 रुपये

कमोडिटी बाजारः कैसा रहा साल 2014

कमोडिटी बाजार के लिए 2014 बेहद खास रहा। कारोबार के लिहाज से तो नहीं, लेकिन रिफॉर्म्स के लिए ये साल खास तौर से जाना जाएगा। क्योंकि बात चाहे छोटे कारोबारियों की हितों की हो, या हेजेर्स की भूमिका बढ़ाने की हो। वायदा बाजार आयोग अपनी पहल की बदौलत पूरे साल सुर्खियों में रहा। कॉन्ट्रेक्ट स्पेस्फिकेशन के मामले में एक्सचेंज को जहां ज्यादा आधिकार दिया गया। वहीं एनएसईएल संकट के बाद वेयरहाउसिंग के क्षेत्र में पहली बार ऐसे कदम उठाए गए। तो क्या दूर हो गई कमोडिटी बाजार की तकलीफें या अभी भी हैं चुनौतियां। ऐसे में कैसा रहेगा अगला साल, क्या होगा नए साल का एजेंडा, जानिए कमोडिटी मार्केट के लिए खास पेशकश एक्शन 2015 में।

कमोडिटी मार्केट में करोबारियों की सहूलियत से पोजिशन लिमिट बढ़ाई गई और छोटे कारोबारियों के लिए एग्री कमोडिटी में छोटा वायदा लाया गया। एग्री कमोडिटी के सर्किट नियमों में बदलाव किए गए और डेली प्राइस लिमिट पॉलिसी की साल में 2 बार समीक्षा होगी। स्पॉट प्राइस पुलिंग सिस्टम के तहत एक्सचेंज हाजिर भाव लेंगे और कारोबारियों के लिए एसएमएस/ई-मेल एलर्ट की सुविधा जरूरी की गई। इसके अलावा कॉन्ट्रैक्ट स्पेसिफिकेशन में एक्सचेंज लेवल पर बदलाव की इजाजत दी गई और सेटलमेंट गारंटी फंड को सख्ती से लागू किया गया।

वेयहाउसिंग पर एफएमसी की पहल के तहत एनएसईएल संकट के बाद एफएमसी की वेयरहाउसिंग सुधार पर जोर दिया गया। एक्सचेंजों से जुड़े वेयरहाउसों का डब्ल्यूआरडीए में रजिस्ट्रेशन जरूरी किया गया। एक्सचेंजों से जुड़े वेयरहाउसों के मालिकाना नियम तय किए गए और रेगुलेटेड वेयरहाउसों की कमोडिटी स्टॉक होल्डिंग लिमिट से बाहर की गई।

बिजनेस लाइन के कमोडिटी एडिटर जी चंद्रशेखर का कहना है कि जब तक फिजिकल कमोडिटी मार्केट में रिफॉर्म्स नहीं होते हैं तब तक वायदा बाजार का सही तरीके से काम करना मुश्किल है। 2014 में काफी सारे रिफॉर्म्स हो चुके हैं और अब इनका असर 2015 में देखने को मिलेगा। हालांकि अभी भी कमोडिटी बाजार के लिए कुछ और अच्छी पॉलिसी बनानी जरूरी हैं जिनके बाद और ज्यादा निवेशक कमोडिटी बाजार में आना चाहेंगे।

एनसीडीईएक्स के बिजनेस डेलपमेंट हेड सुरेश देवनानी का कहना है कि कमोडिटी बाजार में वॉल्यूम कम देखा गया। इस साल की शुरुआत एनएसईएल घोटाले के असर के साथ शुरू हुआ। कमोडिटी बाजार में नए निवेशकों को लाने के लिए मिनी कॉन्ट्रैंक्ट लाए गए। इसके साथ गोल्ड और सिल्वर हेज लॉन्च किए गए और कारोबारियों के लिए जो भी कदम लिए गए उनका असर 2015 में अवश्य देखा जाएगा।

एंजेल कमोडिटीज के एसोसिएट डायरेक्टर नवीन माथुर का कहना है कि कारोबार के लिहाज से साल 2014 कमोडिटी बाजार के लिए ज्यादा अच्छा नहीं रहा। हालांकि भारतीय इक्विटी बाजार का प्रदर्शन अच्छा रहा। हालांकि रिफॉर्म्स के लिहाज से साल काफी अहम रहा। जो भी कदम कमोडिटी बाजार के लिए उठाए गए उनसे जहां बाजार में अधिक पारदर्शिता आई वहीं निवेशकों के लिए भी कारोबार करना आसान हो गया है। कुल मिलाकर रेगुलेशन के लिहाज से 2014 काफी बेहतर रहा और इसी के लिए ये साल जाना जाएगा।

NAFED Sell 12,732 MT Toor & 1,17,447 MT Chana

NAFED Pulses Tender & Stock
 

Edible Oils Import Figures During 01-28 Dec., 2014

As per IBIS data (complied by Agriwatch), Indian buyers imported 0.705 lakh tons of crude soybean oil majorly from Argentina, 7.409 lakh tons of crude palm oil, 1.511 lakh tons of crude sunflower oil and 0.6446 lakh tons of RBD palmolein during 01-28 Dec 2014.

Indian OMCs Came Out With Ethanol Procurement EOI

The oil marketing companies (OMCs) in India floated their expression of interest (EoI) to procure 97 crore liter of ethanol at a rate of Rs 42 per liter at factory gate. This could motivate the cash strived industry (sugar) to divert its cane towards ethanol production in the country.

28 December 2014

कमोडिटी बाजार: आज क्या बनाएं रणनीति

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चांदी में बेहद छोटे दायरे में कारोबार हो रहा है। कॉमैक्स पर सोने में दबाव है। जबकि चांदी में हल्की बढ़त हुई है। सोना जहां 1190 डॉलर के पास है। वहीं चांदी 16 डॉलर के ऊपर है। हालांकि लीबिया से सप्लाई की आशंकाओं के बीच कच्चे तेल में तेजी आई है और नायमैक्स पर इसका दाम करीब 1 फीसदी बढ़कर 55 डॉलर के पार चला गया है। ब्रेंट में भी 0.5 फीसदी की तेजी है। आज डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी बढ़ गई है।

एमसीएक्स पर कच्चा तेल 0.17 फीसदी गिरकर 3540 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। वहीं नैचुरल गैस 0.66 फीसदी बढ़कर 198 रुपये के करीब दिख रहा है।

एमसीएक्स पर सोने और डांदी में सुस्ती देखने को मिल रही है। एमसीएक्स पर सोना 0.15 फीसदी कमजोर होकर 27035 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी सपाट होकर 37290 रुपये नजर आ रही है।

एमसीएक्स पर सभी बेस मेटल हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं। एल्युमिनियम 0.35 फीसदी बढ़कर 120 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं कॉपर 0.66 फीसदी बढ़कर 405 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। निकेल में करीब 1 फीसदी की उछाल देखने के मिल रही है और ये 975 रुपये के करीब दिख रहा है। लेड सपाट रहकर 118 रुपये करीब कारोबार कर रहा है। जबकि जिंक 0.5 फीसदी की बढ़त के साथ 140 रुपये के करीब नजर आ रहा है।

एंजेल कमोडिटीज की निवेश सलाह

चना एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें - 3430-3440, स्टॉपलॉस - 3400 और लक्ष्य - 3510-3520

हल्दी एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें - 8830-8840, स्टॉपलॉस - 8750 और लक्ष्य - 9020-9030

आईआईएफएल की निवेश सलाह

कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 400, स्टॉपलॉस - 396 और लक्ष्य - 406

नैचुरल गैस एमसीएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें - 193, स्टॉपलॉस - 189 और लक्ष्य - 199

26 December 2014

New DPL on NCDEX From Jan.1,2015

According to the directives of the Forward Markets Commission, National Commodity & Derivatives Exchange Limited (NCDEX) revised the policy on Daily Price Limit (DPL) of futures contracts in agricultural commodities as under:
 
1.In case of agricultural commodities’ futures contracts, the DPL shall be (+/-) 4%.
 
2. If 4% DPL is hit on a day, no trading shall be allowed beyond 4%. However, trading will continue within (+/-) 4% DPL on that day.
 
3. If contract closes at 4%, then on the subsequent day, the DPL shall be (+/-) 4%, and if it is hit, the DPL shall be further relaxed by 2% with a cooling off period of 15 minutes in between. If 4+2% DPL is also hit, no trading shall be allowed beyond 6%. However, trading will continue within (+/-) 6% DPL on that day.
 
4. If contract closes at 6%, then on the subsequent day/s, the DPL shall be 4% and if it is hit, the DPL shall be further relaxed by 2% with a cooling off period of 15 minutes in between.
 
5. Once the contract closes below 4+2% DPL i.e. below 6% on the subsequent day/s then DPL on following day/s shall be reset to (+/-) 4% as per para ‘1’ above.
 
6. The above policy shall be applicable for all the contracts of the same underlying commodity i.e. if the DPL is hit only in one of the running futures contracts, then the above policy will be applicable in all running expiries of all the underlying contracts of the same commodity, e.g. if DPL has been hit in Chana (10MT) futures contracts, the policy shall be applicable in Chana (10MT) and Chana (2MT) futures contracts.
 
7. Trading shall not be allowed during the cooling off period in agricultural futures contracts.
 
8. The guidelines currently applicable for the daily price limit on the launch (first) day of new contract shall continue to be as per the circular no. NCDEX/RISK- 027/2011/284 dated September 15, 2011. 
 
This policy would be effective from the beginning of trading day of January 01,2015.

25 December 2014

कमोडिटी बाजार में आज क्या बनाएं रणनीति

क्रिसमस की छुट्टी के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चांदी में तेजी आई है। एशियाई कारोबार में कॉमैक्स पर सोने का दाम करीब 1 फीसदी बढ़ गया है। हालांकि भाव अभी भी 1190 डॉलर के नीचे है। वहीं चांदी में करीब 2 फीसदी की तेजी आई है। लीबिया से सप्लाई की आशंका से कच्चे तेल में भी करीब 0.5 फीसदी की तेजी आई है। नायमैक्स पर क्रूड का दाम 56 डॉलर के ऊपर चला गया है। वहीं डॉलर के मुकाबले रुपया आज बिल्कुल सपाट है।

घरेलू बाजार में एससीएक्स पर कच्चा तेल 1.25 फीसदी की उछाल के साथ 4000 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। वहीं नैचुरल गैस करीब 1 फीसदी चढ़कर 200 रुपये के करीब नजर आ रहा है।

एमसीएक्स पर सोने और चांदी में भी मजबूती दिख रही है। सोना करीब 1 फीसदी उछल कर 26820 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी 1 फीसदी से ज्यादा की उछाल हालिस करते हुए 36885 रुपये के आसपास नजर आ रही है।

एमसीएक्स पर सभी बेस मेटल हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं। एल्युमिनियम करीब 0.25 फीसदी बढ़कर 118 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं कॉपर 0.38 फीसदी मजबूत होकर 406 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। निकेल 0.6 फीसदी बढ़कर 970 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं लेड और जिंक में  0.17 फीसदी और 0.22 फीसदी की बढ़त देखी जा रही है।

खाने के तेलों में आज जोरदार तेजी आई है। वायदा में क्रूड पाम तेल और सोसा तेल का दाम 2 से 3 फीसदी उछल गया है। दरअसल सरकार ने खाने के तेलों पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है। खाने के कच्चे तेल पर इंपोर्ट ड्यूटी 7.5 फीसदी कर दी गई है। जबकि रिफाइंड तेल पर इंपोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी गई है। एनसीडीईएक्स पर सोया ऑयल का जनवरी वायदा करीब 2 फीसदी उछलकर 600 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं कपास खली का जनवरी वायदा 0.5 फीसदी बढ़कर 1426 रुपये पर कारोबार कर रहा है।

मनीलीशियस कैपिटल की निवेश सलाह

सोना एमसीएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 26600, स्टॉपलॉस - 26400 और लक्ष्य - 27000

कच्चा तेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें - 3560, स्टॉपलॉस - 3500 और लक्ष्य - 3680

हेम सिक्योरिटीज की निवेश सलाह

सोया ऑयल एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): बेचें - 615, स्टॉपलॉस - 627 और लक्ष्य - 601

कपास खली एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): बेचें - 1430, स्टॉपलॉस - 1450 और लक्ष्य - 1406

खाने के तेल पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ी

सरकार ने खाने के तेल पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने का फैसला लिया है। फैसले के मुताबिक खाने के कच्चे तेल पर इंपोर्ट ड्यूटी 2.5 फीसदी से बढ़ाकर 7.5 फीसदी की गई है। खाने के रिफंड ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी की गई। इंपोर्टेड खाने के सस्ते तेल से घरेलू कंपनियों को हो रहे नुकसान को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। पिछले कई महीनों से खाने के तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई है।

24 December 2014

India Imported 88 Thousand Tons Of Sugar Last Week

As per the data released by IBIS, India imported 88 thousand tons of sugar (mainly raw) last week (15-21 Dec, 2014) compared to 28.4 thousand tons of exports for the same duration.

Brazilian Sugar Production Fell Down To 0.37 MT In First Two Weeks Of December

Brazil’s centre south region churned around 0.37 million tons of sugar in the first two weeks of December which was 51.3% less than the figure achieved during second half of November. Meanwhile, Brazilian ethanol industry showed an upsurge this year with the country producing 25.6 billion liters of ethanol till date.

China 2014-15 Pulses Prod. Up by 5%,Mung Prod. Down by 20%

In the Marketing year 2014-15 (Oct.-Sept.), China's total pulses production is forecast to increase by 5% to 4.2 million tonne due to higher kidney bean production.
 
The Pulses production accounts for less than 1% of China's annual grain and feed output and receives no production support from the Central Government.
 
The moong (mung bean) production during 2014-15, is estimated at 6 lakh tonne, up 20% lower from previous year on declining acreage due to low prices.
 
The record production in 2011-12 resulted in large stocks, depressed the mung prices in following years-USDA.

23 December 2014

कमोडिटी बाजारः सरसों, जीरे में क्या करें

सरसों की कीमतें पिछले 2 साल के रिकॉर्ड स्तर पर चली गई हैं। एनसीडीईएक्स पर सरसों 1 फीसदी से ज्यादा उछलकर 4300 रुपये के करीब पहुंच गया है। लेकिन राजस्थान की मंडियों में भी सरसों करीब 4200 रुपये प्रति क्विंटल के स्तर पर पहुंच गया है। दरअसल इस साल रबी तिलहन की बुआई में करीब 7 फीसदी की गिरावट आई है। वहीं उत्तर भारत के कई इलाकों में लगातार कोहरे की वजह से फसल खराब होने की भी आशंका है।

इस बीच जीरे में भी जोरदार तेजी आई है। एनसीडीईएक्स पर जीरे का दाम करीब 3 फीसदी उछलकर 14500 रुपये के पास चला गया है। इस महीने के दौरान जीरे में करीब 15 फीसदी की तेजी आ चुकी है।

डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी के बावजूद घरेलू बाजार में सोने की कीमतों पर दबाव है। दरअसल अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना पिछले 3 हफ्ते के निचले स्तर पर है। कॉमैक्स पर सोने का दाम 1180 डॉलर के नीचे है। इस बीच एसपीडीआर गोल्ड की होल्डिंग फिर से गिरने लगी है और ये 712 टन के स्तर पर आ गई है। एमसीएक्स पर सोना सपाट होकर 26630 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी 0.2 फीसदी की बढ़त के साथ 36500 रुपये के आसपास कारोबार कर रही है।

घरेलू बाजार में कमजोर रुपये से क्रूड की कीमतों को हालांकि सपोर्ट मिल रहा है। लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में दबाव है। आज अमेरिकी एनर्जी डिपार्टमेंट की रिपोर्ट भी आने वाली है। एमसीएक्स पर कच्चा तेल 0.3 फीसदी की बढ़त के साथ 3620 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी करीब 1 फीसदी की उछाल के साथ 200 रुपये के ऊपर कारोबार कर रहा है।

कमजोर रुपये का सबसे ज्यादा असर बेस मेटल्स पर है। एमसीएक्स पर कॉपर को छोड़कर सभी मेटल्स में तेजी है। सबसे ज्यादा निकेल में करीब 1 फीसदी की तेजी आई है और इसका भाव 985 रुपये के ऊपर पहुंच गया है। कॉपर सपाट होकर 406 रुपये के आसपास नजर आ रहा है।

एल्युमिनियम 0.3 फीसदी चढ़कर 118 रुपये पर पहुंच गया है। लेड 0.2 फीसदी की बढ़त के साथ 118 रुपये के आसपास नजर आ रहा है। जिंक भी 0.2 फीसदी की तेजी के साथ 137.7 रुपये पर कारोबार कर रहा है।

आनंदराठी कमोडिटीज की निवेश सलाह

सोना एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : बेचें - 26600, स्टॉपलॉस - 26700 और लक्ष्य - 26400

चांदी एमसीएक्स (मार्च वायदा) : बेचें - 36500, स्टॉपलॉस - 36750 और लक्ष्य - 35850

कच्चा तेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा) : खरीदें - 3580, स्टॉपलॉस - 3530 और लक्ष्य - 3700

नैचुरल गैस एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : बेचें - 203, स्टॉपलॉस - 207 और लक्ष्य - 190

कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : खरीदें - 403, स्टॉपलॉस - 400 और लक्ष्य - 408

जिंक एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : खरीदें - 137.50, स्टॉपलॉस - 136.85 और लक्ष्य - 138.40

लेड एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : खरीदें - 117.50, स्टॉपलॉस - 117 और लक्ष्य - 118.50

निकेल एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : खरीदें - 983, स्टॉपलॉस - 975 और लक्ष्य - 997

एल्युमिनियम एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : बेचें - 118, स्टॉपलॉस - 118.50 और लक्ष्य - 116.60

कमोडिटी बाजारः किस पर लगाएं दांव

डॉलर में आई मजबूती से कल अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने में दबाव दिखा थी। हालांकि आज निचले स्तर से हल्की रिकवरी है। इसके बावजूद कॉमैक्स पर सोने में 1180 डॉलर के नीचे कारोबार हो रहा है। चांदी में भी सुस्ती है।

वहीं कच्चे तेल में करीब 1 फीसदी की गिरावट है। नायमैक्स पर क्रूड का भाव 56.6 डॉलर पर आ गया है, जबकि ब्रेंट 61.2 डॉलर पर नजर आ रहा है। आज अमेरिकी एनर्जी डिपार्टमेंट की रिपोर्ट भी आने वाली है। साथ ही बाजार की नजर अमेरिका में बेरोजगारी के साप्ताहिक आंकड़ों पर भी रहेगी। इस बीच डॉलर के मुकाबले रुपये में आज कमजोरी बढ़ गई है।

घरेलू बाजारों की बात करें तो एमसीएक्स पर सोना 0.15 फीसदी की गिरावट के साथ 26580 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी 0.1 फीसदी गिरकर 36400 रुपये के आसपास नजर आ रही है। हालांकि एमसीएक्स पर कच्चा तेल 0.25 फीसदी चढ़कर 3620 रुपये पर पहुंच गया है। नैचुरल गैस में भी तेजी आई है और ये 0.5 फीसदी से ज्यादा बढ़कर 200 रुपये के ऊपर कारोबार कर रहा है।

बेस मेटल्स में कॉपर को छोड़ सभी मेटल्स में बढ़त दिख रही है। कॉपर 0.1 फीसदी गिरकर 406 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। एल्युमिनियम का भाव 117.75 रुपये, निकेल का दाम 984.2 रुपये, लेड का भाव 117.85 रुपये और जिंक का भाव 137.6 रुपये पर पहुंच गया है।

एनसीडीईएक्स पर ग्वार गम का फरवरी वायदा 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ 12350 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं ग्वार गम के जनवरी वायदा में भी 0.25 फीसदी की मजबूती आई है। वहीं एमसीएक्स पर इलायची का जनवरी वायदा सपाट है, तो फरवरी वायदा 0.1 फीसदी गिरकर 950 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है।

एसएमसी कॉमट्रेड की निवेश सलाह

कच्चा तेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा) : बेचें - 3650, स्टॉपलॉस - 3700 और लक्ष्य - 3550

कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : बेचें - 408, स्टॉपलॉस - 410 और लक्ष्य - 405

स्टेवैन डॉट कॉम की निवेश सलाह

इलायची एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : खरीदें - 950, स्टॉपलॉस - 935 और लक्ष्य - 995

ग्वार गम एनसीडीईएक्स (फरवरी वायदा) : खरीदें - 12220, स्टॉपलॉस - 11970 और लक्ष्य - 12970

Lower Canadian Chana, Masoor and Dry Pea Production in 2014-15:-AAFC Dec. Report.

Agriculture and Agri-Food Canada's (AAFC) November outlook report released on December 19, 2014, lower chana, dry pea and masoor(lentil) production is expected in 2014-15. Following table illustrates the Canadian Pulses Scenario:-

21 December 2014

Chana

As expected yesterday NCDEX ChanaJan.futures traded on apositivenote(0.24%higher) on account of limited arrivals and good demand for Dal from the wholesalers
As per the physical market participants, sowing is significantly lower in two major states of Madhya Pradesh and Maharas htra.
 
According to latest estimates of coverage under Rabi pulses has reached
119.19 lakh hectares as on December 19, 2014 which is 10.9% lower as compared to previous year whereas Chana has been sown over 75.15 lakh hectares which is 16.60% less than the area sown during the same period previous year.
 

कमोडिटी बाजारः किस पर लगाएं दांव

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में जोरदार तेजी आई है। नायमैक्स पर क्रूड का दाम करीब 1.5 फीसदी उछलकर 58 डॉलर के पार चला गया है। वहीं ब्रेंट क्रूड में 62 डॉलर के ऊपर कारोबार हो रहा है। दरअसल नान ओपेक देशों ने कच्चे तेल के प्रोडक्शन में कटौती का संकेत दिया है। हालांकि ओपेक के बड़े सदस्य देशों ने साफ तौर पर कहा है कि वे इस तरह कोई भी कदम नहीं उठाएंगे। एमसीएक्स पर कच्चा तेल 1.8 फीसदी बढ़कर 3685 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं नैचुरल गैस करीब 5 फीसदी टूटकर 210 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।

इस बीच सप्लाई बढ़ने के अनुमान से लदंन मेटल स्टॉक पर कॉपर में गिरावट आई है। इस साल के दौरान कॉपर की कीमतों में करीब 13 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। वहीं एमसीएक्स पर निकेल 0.3 फीसदी गिरकर 990 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। हालांकि सोने और चांदी में बेहद सुस्त कारोबार हो रहा है। कॉमेक्स पर सोने का दाम अभी भी 12 सौ डॉलर के नीचे है। आज डॉलर के मुकाबले रुपए में हल्की मजबूती है।

एग्री कमोडिटीज की बात करें तो एनसीडीईएक्स पर हल्दी का अप्रैल वायदा 0.65 फीसदी बढ़कर 8062 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं चने का जनवरी वायदा 0.76 फीसदी बढ़कर 3305 रुपये के करीब नजर आ रहा है।

कमोडिटी बाजारः किस पर लगाएं दांव

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में जोरदार तेजी आई है। नायमैक्स पर क्रूड का दाम करीब 1.5 फीसदी उछलकर 58 डॉलर के पार चला गया है। वहीं ब्रेंट क्रूड में 62 डॉलर के ऊपर कारोबार हो रहा है। दरअसल नान ओपेक देशों ने कच्चे तेल के प्रोडक्शन में कटौती का संकेत दिया है। हालांकि ओपेक के बड़े सदस्य देशों ने साफ तौर पर कहा है कि वे इस तरह कोई भी कदम नहीं उठाएंगे। एमसीएक्स पर कच्चा तेल 1.8 फीसदी बढ़कर 3685 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं नैचुरल गैस करीब 5 फीसदी टूटकर 210 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।

इस बीच सप्लाई बढ़ने के अनुमान से लदंन मेटल स्टॉक पर कॉपर में गिरावट आई है। इस साल के दौरान कॉपर की कीमतों में करीब 13 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। वहीं एमसीएक्स पर निकेल 0.3 फीसदी गिरकर 990 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। हालांकि सोने और चांदी में बेहद सुस्त कारोबार हो रहा है। कॉमेक्स पर सोने का दाम अभी भी 12 सौ डॉलर के नीचे है। आज डॉलर के मुकाबले रुपए में हल्की मजबूती है।

एग्री कमोडिटीज की बात करें तो एनसीडीईएक्स पर हल्दी का अप्रैल वायदा 0.65 फीसदी बढ़कर 8062 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं चने का जनवरी वायदा 0.76 फीसदी बढ़कर 3305 रुपये के करीब नजर आ रहा है।

कमोडिटी बाजारः किस पर लगाएं दांव

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में जोरदार तेजी आई है। नायमैक्स पर क्रूड का दाम करीब 1.5 फीसदी उछलकर 58 डॉलर के पार चला गया है। वहीं ब्रेंट क्रूड में 62 डॉलर के ऊपर कारोबार हो रहा है। दरअसल नान ओपेक देशों ने कच्चे तेल के प्रोडक्शन में कटौती का संकेत दिया है। हालांकि ओपेक के बड़े सदस्य देशों ने साफ तौर पर कहा है कि वे इस तरह कोई भी कदम नहीं उठाएंगे। एमसीएक्स पर कच्चा तेल 1.8 फीसदी बढ़कर 3685 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं नैचुरल गैस करीब 5 फीसदी टूटकर 210 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है।

इस बीच सप्लाई बढ़ने के अनुमान से लदंन मेटल स्टॉक पर कॉपर में गिरावट आई है। इस साल के दौरान कॉपर की कीमतों में करीब 13 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। वहीं एमसीएक्स पर निकेल 0.3 फीसदी गिरकर 990 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। हालांकि सोने और चांदी में बेहद सुस्त कारोबार हो रहा है। कॉमेक्स पर सोने का दाम अभी भी 12 सौ डॉलर के नीचे है। आज डॉलर के मुकाबले रुपए में हल्की मजबूती है।

एग्री कमोडिटीज की बात करें तो एनसीडीईएक्स पर हल्दी का अप्रैल वायदा 0.65 फीसदी बढ़कर 8062 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं चने का जनवरी वायदा 0.76 फीसदी बढ़कर 3305 रुपये के करीब नजर आ रहा है।

कैस्टर, धनिया में प्री एक्सपायरी मार्जिन

एनसीडीईएक्स पर कैस्टर और धनिया के जनवरी वायदा में 26 दिसंबर से ही प्री एक्सपायरी मार्जिन देना होगा। आमतौर पर स्टैगर्ड डिलिवरी पिरियड में आने पर महीने की 11 तारीख से प्री एक्सपायरी मार्जिन लगती थी। लेकिन कीमतों में उठापटक को रोकने के लिए एफएमसी के निर्देश पर एनसीडीईएक्स ने दोनों कमोडिटी में करीब 15 दिन पहले ही प्री एक्सपायरी मार्जिन लगाने का फैसला किया है।

गौर करने वाली बात ये है कि इन दोनों कमोडिटी में पिछले कुछ दिनों से भारी उठापटक हो रही थी। कई कारोबारियों ने एफएमसी से इसकी शिकायती भी की थी।

दलहन, तिलहन की बुआई में भारी कमी

रबी फसलों की बुआई में भारी कमी आई है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक अबतक करीब 511 लाख हेक्टेयर में रबी की बुआई हुई है, जो पिछले साल के मुकाबले करीब 5 फीसदी कम है।

सबसे ज्यादा गिरावट चने की बुआई में आई है। चने की बुआई करीब 15 फीसदी घट गई है, जबकि कुल दलहन की बुआई 10 फीसदी और तिलहन की बुआई में करीब 7 फीसदी की गिरावट आई है। ऐसे में आज चने में फिर से तेजी आई है। लेकिन सरसों में सुस्ती है।

एनसीडीईएक्स पर चना 0.5 फीसदी की उछाल के साथ 3300 रुपये के बेहद करीब पहुंच गया है। वहीं सरसों का भाव 0.2 फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 4200 रुपये के आसपास नजर आ रहा है।

04 December 2014

Australian Pulses 2014-15 Production Down by 23%,Chana Down 31%,Field Pea Down 21%,Lentil Down 10%-ABARE

Australian 2014-15 Pulses Production Down by 23%-

(Source-ABARE)

Egypt had purchased 1, 75,000 tonnes of wheat from Romania & Ukraine

Egypt had purchased 175000 tonnes of wheat from Romania & Ukraine at an average price of $271.24/tonne CiF which has to be delivered between 1-10 January. Till now from July 1st, Egypt has bought 2.425 million tonnes of wheat from the international market, in 2013-14 Egypt had purchased 5.46 million tonnes of wheat from abroad in addition to 3.7 million tonnes of local wheat.

Brazilian Raw Sugar Export Fell To 1.74 MT In November

Brazil exported 1.74 million tons of raw sugar in November, 2014 which is 5% less than the export made last year in November. Similarly, the country saw a 17% fall in exports from October’s figure due to an early wrap up of cane crushing by most of the mills in the region.

Brazilian Raw Sugar Export Fell To 1.74 MT In November

Brazil exported 1.74 million tons of raw sugar in November, 2014 which is 5% less than the export made last year in November. Similarly, the country saw a 17% fall in exports from October’s figure due to an early wrap up of cane crushing by most of the mills in the region.

Brazilian Raw Sugar Export Fell To 1.74 MT In November

Brazil exported 1.74 million tons of raw sugar in November, 2014 which is 5% less than the export made last year in November. Similarly, the country saw a 17% fall in exports from October’s figure due to an early wrap up of cane crushing by most of the mills in the region.

Karnataka And Gujarat Churned Around 3.36 & 1.6 Lakh Tons Of Sugar This Year

31 sugar mills in Karnataka churned around 3.36 lakh tons of sugar this year (as on 30th Nov, 2014) compared to 3.28 lakh tons of sugar a year back. 
Crushing had also started recently in states like Gujarat which had produced around 1.6 lakh tons of sugar till 30th Nov, 2014. Notably, 17 sugar mills from the state participated in the crushing process and the number is likely to increase with the progress in season.

कमोडिटी बाजारः किस पर लगाएं दांव

कल की गिरावट के बाद कच्चे तेल में निचले स्तर से फिर से हल्की बढ़त दिख रही है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में डब्ल्यूटीआई क्रूड और ब्रेंट क्रूड का दाम करीब 0.5 फीसदी बढ़ गया है। ब्रेंट फिर से 70 डॉलर के पार चला गया है।

अमेरिका में भंडार घटने से कीमतों को सपोर्ट मिला है। हालांकि वेनेजुएला के प्रेसिडेंट निकोलस मादुरो के मुताबिक आने वाले दिनों में कच्चे तेल में और गिरावट आ सकती है।

वहीं सोने में कल की तेजी पर ब्रेक लग गया है। हालांकि अभी भी सोना 1205 डॉलर के ऊपर है। आज अमेरिका में बेरोजगारी के साप्ताहिक आंकड़े जारी होंगे। इस बीच डॉलर के मुकाले रुपये में हल्की कमजोरी दिख रही है।

घरेलू बाजार में एमसीएक्स पर सोना 1 फीसदी के उछाल के साथ 26480 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है। वहीं चांदी 0.3 फीसदी बढ़कर 36285 रुपये के आसपास नजर आ रही है।

कच्चे तेल में करीब 0.5 फीसदी की गिरावट दिख रही है और ये 4200 रुपये के नीचे नजर आ रहा है। नैचुरल गैस में करीब 2 फीसदी की भारी गिरावट आई है और ये 235 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है।

घरेलू बाजार में बेस मेटल्स में निकेल और जिंक को छोड़कर बाकी मेटल्स में कमजोरी दिख रही है। एल्युमीनियम 0.3 फीसदी गिरकर 120 रुपये के करीब नजर आ रहा है। वहीं कॉपर में 0.5 फीसदी से अधिक की गिरावट आई है और ये 400 रुपये के नीचे कारोबार कर रहा है। लेड सपाट होकर 125 रुपये के करीब नजर आ रहा है। जिंक 0.3 फीसदी बढ़कर 138 रुपये के करीब कारोबार कर रहा है।

इंडियानिवेश कमोडिटीज की निवेश सलाह

चना एनसीडीईएक्स (दिसंबर वायदा): खरीदें - 3025, स्टॉपलॉस - 2998 और लक्ष्य - 3070

रिफाइंड सोया तेल एनसीडीईएक्स (दिसंबर वायदा): खरीदें - 572, स्टॉपलॉस - 569 और लक्ष्य - 578

एसएसजे फाइनेंस की निवेश सलाह

निकेल एमसीएक्स (दिसंबर वायदा): खरीदें - 1020, स्टॉपलॉस - 1005 और लक्ष्य - 1050

कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा): खरीदें - 404, स्टॉपलॉस - 400 और लक्ष्य - 411

दुनिया में बढ़ी भारतीय मसालों की मांग

देश में इस साल बारिश भले कम हुई है, लेकिन मसालों के एक्सपोर्ट में शानदार बढ़त देखने को मिली है। भारतीय मसाला बोर्ड के मुताबिक अप्रैल से सितंबर तक मसालों के एक्सपोर्ट में करीब 12 फीसदी की बढ़त हुई है। जिसमें सबसे ज्यादा बढ़त जीरे के एक्सपोर्ट में करीब 25 फीसदी की देखने को मिली है।

हालांकि क्वांटिटी के मामले में सबसे ज्यादा एक्सपोर्ट लाल मिर्च का हुई है। सितंबर तक करीब 1.61 लाख टन लाल मिर्च का एक्सपोर्ट हुआ है जो पिछले साल के मुकाबले करीब 17 फीसदी ज्यादा है। इस तरह से सितंबर तक करीब 7000 करोड़ रुपये के मसाले एक्सपोर्ट हो चुके हैं।

वहीं वायदा बाजार पर नजर डालें तो एनसीडीईएक्स पर जीरा 0.2 फीसदी की बढ़त के साथ 12200 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। हल्दी का भाव 1.25 फीसदी उछलकर 6500 रुपये के ऊपर पहुंच गया है।

सोयाबीन में आज तेज गिरावट आई है। एनसीडीईएक्स पर सोयाबीन का दाम 0.5 फीसदी से ज्यादा गिरकर 3250 रुपये के करीब आ गया है। दरअसल ब्राजील में अच्छी फसल के अनुमान से शिकागो ऑफ ट्रेड पर सोयाबीन में करीब 2 फीसदी की तेज गिरावट आई है।

चने में आज भी बिकवाली हावी है। एनसीडीईएक्स पर चना करीब 1 फीसदी की गिरावट के साथ 3065 रुपये पर आ गया है। दरअसल हाजिर बाजार में भी चने की मांग में कमी आई है। हालांकि पिछले साल के मुकाबले दलहन की बुआई में कमी आई है।

चालू सीजन में चीनी का उत्पादन 56% बढ़ा

चालू सीजन के पहले 2 महीनों में चीनी का उत्पादन करीब 56 फीसदी बढ़ गया है। भारतीय चीनी मिल संघ के मुताबिक 30 नवंबर तक देश में करीब 17.81 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है।

गौर करने वाली बात ये है कि देश भर में अभी भी करीब 200 चीनी मिलों में कामकाज शुरू नहीं हो सका है। फिलहाल कुल 297 मिलों में पेराई हो रही है। जिसमें यूपी की 124 में से 60 मिलों में पेराई का काम शुरू हो चुका है और राज्य में करीब 1.20 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है। इस बीच, एनसीडीईएक्स पर चीनी 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ 2740 रुपये पर कारोबार कर रही है।

भारतीय चीनी मिल संघ के डायरेक्टर जनरल अविनाश वर्मा का कहना है कि पिछले साल यूपी की मिलों में हड़ताल की वजह से कम उत्पादन हुआ था। लेकिन इस साल चीनी मिलों में कामकाज जल्दी शुरू हुआ जिससे उत्पादन बढ़ा है। इस साल देश में करीब 255 लाख टन चीनी उत्पादन का अनुमान है।

अविनाश वर्मा के मुताबिक इस साल चीनी उत्पादन करीब 5 फीसदी ज्यादा रहने का अनुमान है। इस सीजन में करीब 25 लाख टन सरप्लस स्टॉक रह सकता है। वहीं सरकार एक्सपोर्ट रियायत दे तो करीब 18-20 लाख टन चीनी एक्सपोर्ट संभव है। एक्सपोर्ट रियायत के लिए सरकार से बाचतीच जारी है और 10 दिन में फैसले की संभावना है।